Government Jobs Result

Jobs & Results

सुभाष चन्द्र बोस इन हिंदी – Subhash Chandra Bose

सुभाष चन्द्र बोस इन हिंदी- Subhash Chandra Bose

सुभाष चन्द्र बोस का जीवन परिचय

सुभाष चन्द्र बोस का जन्म उड़ीसा के कटक शहर में हुआ था , इनके द्वारा 1920 में ICS की परीक्षा पास कर ली थी और चौथी रैंक आयी थी

सुभाष चन्द्र बोस ने ICS की नौकरी की छोड़कर असहयोग आंदोलन में कूद पड़े और 1938 में ये कांग्रेस के हरिपुरा अधिवेशन में कांग्रेस के अध्यक्ष बने और 1939 में त्रिपुरी अधिवेशन में दुबारा से अध्यक्ष बने इस दौरान गाँधी के दोस्त प्ताभिसिटारामैया को हरा दिया गया था

महात्मा गाँधी के द्वारा जब इनको सपोर्ट प्राप्त नहीं हुआ तो इन्होने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया और फॉरवर्ड ब्लॉक की स्थापना की 1939 में।

सुभाष चन्द्र बोस ने अंग्रेजो पर कटाक्ष करना शुरू कर दिया तो अंग्रेजो ने इन्हे कोलकाता में नजरबन्द कर दिया ये वहा से भेष बदलकर भाग निकले और जर्मनी जा पहुंचे और ये जर्मनी में हिटलर से मिलते है और हिटलर ने इन्हे नेताजी की उपाधि दी

आजाद हिन्द फ़ौज

1943 में इसकी स्थापना हुई और सिंगापुर में इसकी स्थापना हुई

आजाद हिन्द फ़ौज के संस्थापक – कैप्टन मोहन सिंह , राम विहारी बोस , और सुभाष चन्द्र बोस

आजाद हिन्द फ़ौज ने मणिपुर और अंडमान निकोबार में झंडा फहराया।

जब अमेरिका ने जापान के हिरोशिमा और नागाशाकी पर बम डाला तो आजाद हिन्द फ़ौज के द्वारा और जापान के द्वारा आत्मसमर्पण कर दिया गया

अमेरिका के द्वारा 6 अगस्त 1945 को हिरोशिमा पर बम डाला गया जिसका नाम था (लिटिल बॉय) Little Boy

अमेरिका के द्वारा 9 अगस्त 1945 को नागाशाकी पर बम डाला गया जिसका नाम था (फेटमैन) Fatman

लाल किले का मुकदमा

1945 में यह मुक़दमा आजाद हिन्द फ़ौज के सैनिको पर चलाया गया था और इस मुकदमे में मुख्य आरोपी थे –

कैप्टेन मोहन सिंह और प्रेम सहगल

मुल्ला भाई देसाई ने इन दोनों का मुकदमा लड़ा और कुछ और लोगो ने भी मुल्ला भाई देसाई का साथ दिया जिनके नाम है –

जवाहर लाल नेहरू
तेज बहादुर सप्रू
अरुणा आशफ अली

लार्ड वेवल के द्वारा अपने अधिकार का प्रयोग करते हुए सभी सैनिको को रिहा कर दिया जाता है

Updated: October 28, 2019 — 11:58 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Government Jobs Result © 2019 Government Jobs  Result
error: Content is protected !!