Government Jobs Result

Jobs & Results

Bhartiya Sansad भारतीय संसद

Bhartiya Sansad भारतीय संसद

भारतीय संसद के कितने अंग है

भारतीय संसद के 2 अंग है

राज्यसभा

लोकसभा

 

राज्यसभा को उच्च सदन कहा जाता है

लोकसभा को निम्न सदन कहा जाता है

भारतीय संसद, भारतीय संविधान के article 80 के तहत आता है

संसद के सदस्यो को संख्या – 245

इसमें अधिकतम संख्या – 252 तक हो सकती है

245 में से 233 निर्वाचित सदस्य होने चाहिए और 12 राष्ट्रपति द्वारा मनोनीत सदस्य होते है

इसके सदस्यों की संख्या 30 होनी चाहिए

भारत का नागरिक हो

दिवालिया न हो

चुनाव – समानुपाती प्रणाली के आधार पर MLA वोट देंगे

हरियाणा में 90 MLA , राज्यसभा सदस्य (5 सदस्य) चुनते है

1952 में पहली बार लोकसभा और राज्यसभा बनी थी

राज्यसभा को स्थायी सदन बोलते है क्योकि इसको भंग नहीं नई किया जा सकता

राज्यसभा का अध्यक्ष – उपराष्ट्रपति होता है

इसका उपाध्यक्ष भी होता है

राज्यसभा की सभा को चलाना भारत के उपराष्ट्रपति का काम होता है

पक्ष और विपक्ष के बराबर होने पर सभापति या उपराष्ट्रपति को निर्णायक मत डालने का अधिकार है

किसी MP के दूसरी पार्टी में शामिल होने पर उसकी सदस्य्ता रद्द कर दी जाती है लेकिन किसी भी पार्टी के 2 /3 सदस्य किसी दूसरी पार्टी में शामिल होना चाहे तो हो सकते है दल बदल कानून के तहत (ये भारतीय संविधान के 52 वे संसोधन के तहत होता है)

राज्यसभा का सभापति इस्तीफा राष्ट्रपति को दे सकता है

उपसभपति या उपाध्यक्ष अपना इस्तीफा सभापति को देगा

राज्यसभा के कार्य

article 312 के तहत राज्यसभा 2 /3 बहुमत के साथ नयी अखिल भारतीय सेवाओं को शुरू कर सकता है

article 249 के तहत राज्यसभा 2 /3 बहुमत के साथ राज्यसूचि को जरुरी बताकर उस पर संसद को कानून बनाने का अधिकार दे सकती है

ये कानून 1 वर्ष तक प्रयोग में लाया जा सकता है

राज्यसभा धन विधेयक को केवल 14 दिनों तक अपने पास रख सकती है उसके बाद वह प्रस्ताव पास मान लिया जाता है

संयुक्त अधिवेशन की बैठक की अध्यक्षता – लोकसभा का अध्यक्ष करेगा

राज्यसभा के पास सदस्यों की संख्या कम होने के कारण इसकी शक्तिया कम होती है

लोकसभा

ये article 81 के तहत आता है

इसके सदस्य के लिए उम्र 25 होनी चाहिए

वह भारत का नागरिक होना चाहिए

इसकी अधिकतम सीट की संख्या – 545 होनी चाहिए

543 – निर्वाचित सदस्य होते है
2 – राष्ट्रपति द्वारा मनोनीत करता है ( भारतीय संविधान के article 331 के तहत )

इसका कार्यकाल 5 साल का होता है

सदस्य्ता से विमुक्त

कोई सदस्य अगर दूसरी पार्टी में शामिल हो जाये या फिर कोई व्यक्ति निर्दलीय सदस्य किसी दूसरी पार्टी में शामिल हो जाये

यदि कोई व्यक्ति 60 दिन तक अनुपस्थित हो तो उसकी सदस्य्ता रद्द कर दी जाती है

2 /3 सदस्य पार्टी बदल सकते है तो उनकी सदस्य्ता रद्द कर दी जाती है

42 वे भारतीय संविधान संसोधन में इसका कार्यकाल 6 वर्ष किया गया था

44 वे भारतीय संविधान संसोधन में इसका कार्यकाल फिर से 5 वर्ष कर दिया गया

प्रोटम स्पीकर – विरेंदर सिंह है (वर्तमान में )

ये सबसे अधिकतम अनुभवी और वरिष्ठत्म सांसद है

प्रोटम स्पीकर अस्थाई अध्यक्ष होता है लोकसभा का

इसका काम है नव निर्वाचित सांसदों को शपथ दिलाएगा और लोकसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव करवाएगा

वर्तमान में लोकसभा अध्यक्ष – (ओम बिरला)

इनका काम है लोकसभा की कार्यवाही

किसी भी सांसद पर अनुशासन के उलंघन पर कार्यवाही कर सकता है

कोई विधेयक धन विधेयक है या नहीं ये निर्णय भी लोकसभा का अध्यक्ष करता है

संयुक्त अधिवेशन की बैठक की अध्यक्षता भी लोकसभा का अध्यक्ष करता है

लोकसभा का अध्यक्ष अपना इस्तीफा उपाध्यक्ष को देता है और उपाध्यक्ष , अध्यक्ष को देता है

लोकसभा के कार्य

सभी विधेयकों को लोकसभा में प्रस्तुत करता है

article 110 के तहत धन विधेयक को पहले लोकसभा में ही प्रस्तुत किया जाता है

article 117 के तहत वित्त विधेयक को भी पहले लोकसभा में ही प्रस्तुत किया जाता है

बजट को भी सबसे पहले लोकसभा में ही प्रस्तुत किया जाता है

अनुदान की मांग को भी सबसे पहले लोकसभा में ही प्रस्तुत किया जाता है

संसद की वर्ष में तीन बैठक होती है

बजट सत्र – सबसे लम्बा सत्र होता है , मानसून सत्र और शीतकालीन सत्र

सत्र की शुरुआत राष्ट्रपति करता है और सत्र की समाप्ती भी राष्ट्रपति करता है

लेकिन सत्र को कुछ समय तक लोकसभा अध्यक्ष कर सकता है

संचित निधि – article 266 के तहत आती है

लोक लेखा निधि – article 266 बी के तहत आती है

आकस्मिक निधि – article 267 के तहत आती है

संचित निधि – इसमें टैक्स से एकत्रित किया गया पैसा , और उधर लिए गया पैसा शामिल होता है सवैधानिक पदों पर आसीन व्यक्तियों के वेतन और भत्ते इसमें शामिल है इसी निधि से दिए जाते है

लोक लेखा निधि – बैंको में बचत खाता का पैसा और भविष्य निधि का पैसा इसमें शामिल है

आकस्मिक निधि – आकस्मिक खर्चो के लिए पैसा यहाँ से आता है

Updated: October 30, 2019 — 2:19 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Government Jobs Result © 2019 Government Jobs  Result
error: Content is protected !!